प्लास्टिक मनी किसे कहते हैं? | Plastic Money kya hota hai | What is Plastic Money?



प्लास्टिक मनी किसे कहते हैं? | Plastic Money kya hota hai | क्रेडिट कार्ड क्या होता है | डेबिट कार्ड क्या होता है।

दोस्तों, जैसे की हम जानते है की मनी काग़ज़, लोहे, सिल्वर ये सभी का होता है तो फिर ये प्लास्टिक मनि क्या होता, जो लोग जानते होंगे उसके लिए तो कोई बड़ी चीज़ नहि है।

लेकिन जो नहि जानते होंगे उन्हें लग रहा होगा की जैसे हमारे 100, 200 और 500 के नोट या फिर 1, 2, 5 और 10, 20 रुपए के सिक्के बने होते है उसी तरह के कोई नोट होता होगा जो प्लास्टिक के बना हुआ पैसे होगा। दोस्तों अगर ऐसा कुछ सोच रहे होंगे तो आज हमलोग इसको समझेंगे।

सम्बंधित लेख,

प्लास्टिक किसे कहते हैं | प्लास्टिक के फ़ायदे और नुक़सान | Plastic ke fayde aur nuksan

प्लास्टिक मनी किसे कहते हैं - Plastic Money Kise kahte hai ?

प्लास्टिक मनी के मतलब प्लास्टिक से बने कार्ड से, जिसके इस्तेमाल करके हम बहुत सारे काम कर सकते है। जेनरली प्लास्टिक मनी 2 कैटेगॉरी में बाटा गया है।

1. डेबिट कार्ड- ATM आता है इसी को डेबिट कार्ड भी कहा जाता है। इसमें आपके बैंक अकाउंट में जितने भी पैसे होते है उसको आप इस कार्ड के ज़रिए किसी भी बैंक के ATM मशीन के इस्तेमाल करके पैसे निकाल सकते है इसमें सेल्फ़-सर्विस होता है। और 24 X 7 का सर्विस होता है, 24 X 7 का मतलब 24 घंटा 7 दिन, मतलब कभी भी आप अपने बैंक में रखे पैसे को निकल सकते है अपने इस्तेमाल के हिसाब से।

2. क्रेडिट कार्ड - क्रेडिट कार्ड एक ऐसा कार्ड होता है - जिसके लिए आपके बैंक खाता में पैसे रखने की ज़रूरत नहि होता है याहा तक आपके पास उस बैंक में खाता नहि भी है तो भी आप उस बैंक का क्रेडिट कार्ड इस्तेमाल कर सकते है। 

क्रेडिट कार्ड मतलब ही होता है क्रेडिट से और बैंक व्यक्ति के क्रेडिट और कमाई (इनकम - Income) के हिसाब से उस कार्ड का लिमिट देती है और आप उस लिमिट तक बिना बैंक खाते में पैसे रहे इस्तेमाल कर सकते है। और उसका भुगतान अप टू 50 दिन  तक कर सकते है।

क्रेडिट कार्ड का बिलिंग साइकल होता है जैसे हर महीने को 21 तारीख़ को और बिल जेनरेट के बाद 15 दिन और समय मिलता है बिल चुकाने का इसको आप एक उदाहरण से समझते है मान लीजिए आपने जिस दिन बिल जेनरेट उसके अगले दिन कुछ ख़रीदा तो आपको ये अगले महीने में बिलिंग साइकल के date पर इसका बिल जेनरेट तो ये लगभग 30 हुआ और 15 दिन और समय मिलेंगे चुकाने को तो टोटल 45 दिन हुआ।

प्लास्टिक मनी को प्लास्टिक कार्ड भी कहा जाता है। इसे आप नोट की जगह भुगतान करने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं। डिजिटल दौर में प्लास्टिक मनी काफी प्रचलन में है। ऐसा इसलिए क्योंकि इसका इस्तेमाल करने वालों को बटुए में कैश रखने की आवश्यकता नहीं होती है। आइए इस लेख में प्लास्टिक मनी के बारे में विस्तार से जानते हैं।

अगर शॉर्ट में देखा जाए तो ऐसा मनी जो प्लास्टिक से बने होते है जैसे: क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड, इस कार्ड के जारीए हम बैंक कि ATM से पैसे निकल सकते है।

डेबिट कार्ड क्या होता है? डेबिट कार्ड को चेक कार्ड भी कहा जाता है, ये ऐसा कार्ड होता है जिसके यूज़ करके आप किसी भी ATM मशीन कि थ्रू अपने बैंक खाते से पैसे निकाल सकते है। ध्यान रहे के आपके खाते में जितने पैसे होंगे अधिकतम उतना ही निकाल सकता है।

डेबिट कार्ड के थ्रू ATM मशीन पैसे निकालने के भी बहुत सारे सर्त होते है, लेकिन डेबिट कार्ड का मेन काम सेल्फ़ सर्विस है।

डेबिट कार्ड के कुछ मैं बिंदुओ पर ध्यान देते है।

1. डेबिट कार्ड के थ्रू ATM मशीन से 24४ X 7 कभी भी कही भी पैसे निकाल सकते है।

2. बैंकों में पैसे निकालने के लिए बहुत समय का वरवादी होती थी और बैंक वर्किंग समय (Working hrs) में ही पैसे निकाल सकते थे इसलिए, ये सेल्फ़ सर्विस के लिए बनाया गया है।

 3. बैंकों के एक ब्रांच को सेटल करने में बहुत इक्स्पेन्सेज़ होते थे जिससे 50-60 ATM मशीन बहुत आसानी से इंस्टॉल किया जा सकता है जिससे एक छोटे सहर का काम चल जाएगा।

4. डेबिट कार्ड में भी पैसे निकालने के अधिकतम राशि है, जैसे मान लीजिए आपके बैंक खाते में 5 लाख रुपए है तो आप एक दिन में डेबिट कार्ड से इतने रक़म नहि निकाल सकते है, ये आपके कार्ड और बंको द्वारा दिया गया लिमिट पर निर्भर करता है, गेनरली 10 हज़ार, 40 हज़ार और 70 हज़ार तक प्रति दिन के होते है, लेकिन अगर आपको इससे ज़्यादा लिमिट चाहिए तो बैंक में ऐप्लिकेशन देकर बड़वा सकते है। या फिर बैंक पासबूक का इस्तेमाल कर सकते है।

5. आप डेबिट कार्ड के थ्रू ऑनलाइन शोपिंग बड़े आसानी से कर सकते है। जैसे की फ्लिपकार्ट, ऐमज़ान इत्यादि।

6. ऑनलाइन पेमेंट के लिए डेबिट कार्ड का इस्तेमाल कर सकते है जैसे कोई सरकारी नौकरी (Government Job) के फ़ोरम भर रहे है तो आप आसानी से फ़ोरम का पेमेंट भुगतान कर सकते है।

7. डेबिट कार्ड को यूज़ करने के लिए आपको 4 डिजिट (3245) का पिन नम्बर की अवशकयता होगी।

8. जेनरली ATM कार्ड को ही डेबिट कार्ड बोलते है लेकिन इसमें कुछ वराइयटी और बाद गया है जैसे मास्टर कार्ड, वीज़ा, शॉपिंग इत्यादि।

9. डेबिट कार्ड के लिए आपको एक ही बार चार्ज देना पड़ता है, ओ आपके डेबिट कार्ड पर डिपेंड करता है। की चार्जेज़ कितना लगेगा 299, 499 एत्यादि हो सकते है।

10. इंटर्नैशनल ट्रैंज़ैक्शन भी डेबिट कार्ड के थ्रू कर सकते है।

11. ATM मशीन से अपने डेबिट कार्ड के थ्रू अपने खाते से दूसरे खाते में पैसे आसानी से ट्रान्स्फ़र कर सकते है।

12. जाहा क्रेडिट कार्ड पाना सभी के लिए मुसकिल होता वही डेबिट कार्ड सभी को आसानी से मिल जाती है।

13. अंतिम लेकिन बेस्ट - क्रेडिट कार्ड में फ़्रॉड के चान्स ज़्यादा होते है इसलिए किसी को कार्ड से रिलेटेड कोई भी जानकारी साझा न करे जैसे: कार्ड नम्बर, पिन नम्बर, CVV, OTP और एक्षपायरि डेट इत्यादि।

क्रेडिट कार्ड क्या होता है?

क्रेडिट कार्ड में लगभग – लगभग डेबिट कार्ड का सारे फ़ीचर उपलभद होते है। और कुछ अतिरिक्त भी होता है। क्रेडिट कार्ड एक ऐसा कार्ड होता है जिससे आपके बैंक खाते से कोई मतलब नहि है, मान लीजिए आपके पास HDFC बैंक में खाता है तो आप ICICI बैंक का भी क्रेडिट कार्ड रख सकते है। और उसका बिल आप NEFT के थ्रू पे कर सकते है।

क्रेडिट कार्ड के लिए आपके पास बैंक खाता में पैसा हो या नहि हो कोई मैटर नहि है, जब क्रेडिट कार्ड आपको मिलता है तो आपके क्रेडिट स्कोर और इंकम के बिहाफ पर उसका लिमिट तय होता है।

मान लीजिए आपका इंकम 1 लाख प्रति मोहिने है तो आपको कम से कम 1 लाख रुपए का क्रेडिट लिमिट मिल जाएगा। जिसको आप कभी भी इस्तेमाल कर सकते है चाहे आपके बैंक अकाउंट में 0 रुपए ही क्यों न पड़े हो।

बंको द्वारा पूर्व – अनुमति से क्रेडिट कार्ड के ज़रिए लोन के तरह ही पैसे दिए जाते है जिसको ज़रूरत पड़ने पर आप उसका यूज़ कर सकते है, इसमें बहुत सारे लाभ भी है और हानि भी, चलिए देखते है।

डेबिट कार्ड का नुक़सान क्या होता है?

1. डेबिट कार्ड में ऑफ़र तो न कि बराबर ही मिलता है।

2. डेबिट कार्ड से आप अपने खाते में पैसे रहने पर ही इस्तेमाल कर सकते है।

 डेबिट कार्ड के प्रकार।

1. मास्टर कार्ड

2. वीज़ा कार्ड 

 3. रूपे कार्ड

4. गोल्ड कार्ड

5. मेट्रो कार्ड 

6. सिल्वर कार्ड

7. पलटिनम कार्ड इत्यादि।

क्रेडिट कार्ड के फ़ायदे।

1. लगभग - लगभग डेबिट के सारे फ़ायदे याहा मिलजाएँगे।

2. आपके बैंक अकाउंट में पैसे न हो फिर भी आप क्रेडिट कार्ड के लिमिट तक इसको इस्तेमाल कर पाएँगे।

3. लगभग 50 दिन तक बिना ब्याज के पैसे वपिक कर सकते है।

4. अगर आप 50 दिन तक पैसे वपिक नहि कर पाए तो आप इसको इन्स्टॉल्मेंट यानी किस्त में पेमेंट कर सकते है, जो भी इसका चार्जेज़ और इंट्रेस्ट होगा ओ आपको बैंक को देना पड़ेगा।

5. क्रेडिट कार्ड के सही इस्तेमाल से आपका क्रेडिट सक्रोरे सही होगा तो आपको भविष्य में लोन लेने में आसानी होगी और लोन ज़्यादा अमाउंट तक मिल सकता है।

6. क्रेडिट कार्ड से शॉपिंग करने पर आपको रेवॉर्ड्ज़ पॉंट्स मिलता है जिसको आप चाहे तो कैश में भी कन्वर्ट करा सकते है और चाहे तो ओनलिने कुछ ख़रीद सकते है।

7. इमर्जन्सी के समय अगर आपके दोस्त, रिस्तेदार आपको सहयाता नहि करते है तो क्रेडिट कार्ड आपका बेस्ट हेल्पिंग – हैंड बन सकता है।

8. क्रेडिट कार्ड सालाना चार्ज भी वापिस पा सकते है, इसमें कुछ ख़रीदारी का टार्गेट पूरा करना होता है जैसे: 1 साल में 50 हज़ार या फिर 1 लाख।

9. ऑनलाइन शॉपिंग में इंस्टंट डिस्काउंट मिल सकता है जो 10 से 15% का होता है और कभी कभी 20% का भी होता है जो कि ये बेनिफ़िट डेबिट कार्ड में नहि होता है।

10. ऑनलाइन शॉपिंग में अप नो-कोस्ट EMI का बेनेफ़िट पा सकते है।

11. कैश – बैक का ऑफ़र बहुत ज़्यादा मिलता है।

12. समय - समय आपके यूज़ के हिसाब से क्रेडिट कार्ड के लिमिट बड़ाया जाता है।

13. हर महीने आपका सारे ख़रीदारी का स्टेट्मेंट आपके ईमेल ID पर मिल जाएगा, जिससे आप व्यर्थ होने वाले खर्चे पर कंट्रोल कर सकते है।

14. ऑनलाइन कार्ड के मैनेज कर सकते है जैसे: मान लिजीए आपका कार्ड खो गया तो आप ऑनलाइन प्लाट्फ़ोर्म से इसको ब्लॉक कर सकते है, इसका मिनी-स्टेट्मेंट चेक कर सकते है, EMI में कन्वर्ट कर सकते है और भी बहुत कुछ ऑनलाइन फ़ीचर में दिया जाता है।

15. कोई कोई क्रेडिट कार्ड में मकडोनल / मल्ल ये सब में बाई 1 गेट 1 के ऑफ़र का इस्तेमाल कर सकते है।

16. कोई कोई क्रेडिट कार्ड में मूवीज़ टिकट बाई 1 गेट 1 के ऑफ़र का इस्तेमाल कर सकते है। 

क्रेडिट कार्ड का नुक़सान क्या होता है?

दोस्तों, अभी सबसे बड़ा नुक़सान मुझे और मेरे फ़्रेंड सर्कल जो लगा ओ अपने इंकम से ज़्यादा खर्च करने वाला आदत, चलिए नीच दिए गये बिंदुओ पर ध्यान देते है।

1. इंकम से ज़्यादा खर्च करना, मान लीजिए आपके 50 हज़ार प्रति महीने का इंकम है और आपके क्रेडिट लिमिट कुछ दिने पुराना होने के बाद 5 लाख रुपए हो गये। और समय के साथ आपका भी मन्थ्ली इक्स्पेन्सेज़ 40 हज़ार है तो आप चाहे तो 10 या भी क्रेडिट के हिसाब से चले तो 20 खर्च कर सकते है। लेकिन आपका लिमिट अधिक होने के वजह से आप पूरे 5 लाख तक ख़रीदारी कर सकते है। और अपने अपने दोस्तों के या फिर अपने मन पसंद के आइफ़ोन (iphone) ख़रीद लिए जिसका मूल्य 1 लाख हो अब आपके लिए ये डू बनते जाएगा। अगर आप इसको समय से पेमेंट नहि किया तो 1 से 1.5 लाख हो सकता है और कभी कभी कितने लोग तो डिफ़ॉल्ट भी बैन जाते है।

2. क्रेडिट कार्ड में कुछ हिडेन चार्जेज़ भी होते है जो कि बंको द्वारा भी आपको अच्छे से बताया नहि जाता और फिर आपसे ओसुला जाता है।

3. अगर अपने मिस्टेक से भी अंतिम तारीख़ के बाद बिल पेमेंट करते है तो आपको पूरे बिल पर ब्याद और लेट – पेमेंट चार्जेज़ देने पड़ेंगे।

4. जेनरली बंको द्वारा इंटर्नैशनल पेमेंट अलाउ नहि होता है लेकिन आप इसको ऐक्टिवेट करा सकते है, लेकिन इंटर्नैशनली फ़्रॉड होने के ख़तरा ज़्यादा होता है।

5. क्रेडिट कार्ड के वार्षिक चार्जेज़ भी लगते है।

6. अगर समय से बिल भुगतान नहि करते है तो आपका क्रेडिट स्कोर रेड ज़ोन में चला जाएगा और आपको भविष्य में लोन लेने में बहुत परेशानी होगी।

क्रेडिट कार्ड के प्रकार।

1. सेकोर्ड कार्ड 

2. वीज़ा कार्ड 

3. शॉपिंग कार्ड

4. फ़्लू कार्ड 

5. रिवार्ड कार्ड 

6. गोल्ड कार्ड

 7. सिल्वर

8. पलटिनम कार्ड

9. मेट्रो कार्ड इत्यादि।

एक टिप्पणी भेजें (0)
और नया पुराने